Principal Messages

प्रधानाचार्य की कलम से ........

मानव मात्र में ही नहीं वरन जीवन की प्रत्येक इकाई में उजागर करने के लिए शिक्षा एक अनिवार्य तत्व है | शिक्षाहीन व्यक्ति ऐसे व्यक्ति के समान है जो उड़ना तो चाहता है लेकिन उसके पंख ही नहीं है और जिनके पंख हैं वो उड़ तो सकते है लेकिन शिक्षा के बिना सही दिशा और लक्ष्य नहीं खोज सकते | ऐसी विषम स्थिति में समाज को सम्यक दिशा प्रदान करने का गुरुतर दायित्व विद्यालयों एवं शिक्षकों के कंधो पर आ टिकता है | शिक्षा का उद्देश्य मात्र धनोपार्जन नहीं बल्कि शिक्षा छात्रों के शारीरिक, मानसिक, नैतिक एवं आध्यात्मिक विकास और परिष्कार का साधन है | कागज के टुकड़ों पर अंकित कुछ अंक उनका साध्य नहीं है, उनका साध्य है संस्कार युक्त सर्वाङ्गीण शिक्षा जो निश्चित रूप से स्वगौरव से ऊपर उठती हुयी राष्ट्रगौरव एवं मानवता के गौरव जैसे साध्य द्वारा मानव की चरम अपेछा की पूर्ति में सहायक बने | तीव्रता से परिवर्तित हो रहे ऐसे समय में आज आवश्यकता है ऐसी शिक्षा की जो संस्कारो एवं नैतिकता के धरातल पर टिकी हो, शिव संकल्पो से मुक्त हो तथा वर्तमान पीढ़ी को राष्ट्रभक्ति से ओट- प्रोत, भारतीय सांस्कृतिक चेतना एवं प्रखर तेजस्वीता से युक्त नागरिक बना सके | ऐसी ही शिक्षा का वातावरण निर्मित करने के पुनीत कार्य में सन्नद्ध है श्रेष्ठ मनीषी-चिंतक परम पूज्य रज्जू भैया की तपस्थली पर उनकी आदरणीय माता ज्वाला देवी के शुभाशीष से अभिसिंचित ज्वाला देवी विद्या मंदिर इंटर कालेज सिविल लाइंस प्रयाग का सम्पूर्ण विद्यालय परिवार |

आपका पाल्य सर्वोन्मुखी प्रतिभा से युक्त हो, वह राम- कृष्ण, राणा- शिवा, विवेकानंद- कलाम की परम्परा का संवाहन बने, ऐसी शिक्षा- दीक्षा प्रदान करना ही हमारा उद्देश्य है | पूर्ण विश्वास है इसमें आपका सतत्त सहयोग हमें अवश्य प्राप्त होगा | सहयोग की इसी अपेक्षा के साथ प्रस्तुत है विद्यालय की यह विवरणिका |